Unbiased Information and Reviews on Appliances, Solar and Saving Electricity

क्या आपका घर इलेक्ट्रिकल फायर और शॉक से सुरक्षित है?

By on November 29, 2019 with 0 Comments  

“हम विद्युत् शक्ति के इस्तेमाल के इतने आदि हो चुके है की उसके साथ जुडी अपनी जिम्मेदारियों के प्रति क्या हम पूरी तरह से अशक्त है? एक और जहाँ बिजली का इस्तेमाल हमारे लिए वरदान साबित हुआ है साथ ही यदि सुरक्षित इस्तेमाल नहीं किया गया तो एक अभिशाप भी बन सकता है। इसी लिया बिजली का काम कानूनन तौर पर एक लाइसेंस प्राप्त इलेक्ट्रीशियन द्वारा ही किया जा सकता है लकिन हमारे देश में
प्राह्य पाया गया है की अधिकतर काम देख देख कर सीख के शुरू कर देते है और हम भी विश्वास करके उसकी पूरी जिम्मेदारी से काम करा लेते हैं। यह भी एक कारण है जिसके कारण बहुत बार आग के दुर्घटनाओं के कारण शार्ट सर्किट पाया जाता है और इलेक्ट्रिक शॉक के संभावनाओं को भी जन्म देता है।

ऐसी स्थिति मे यह आवश्यक है की हम समय समय पर प्रश्न कर विश्वास प्राप्त कर सकते है कि जो काम किया गया है वह पूरी तरह से विश्वसनीय और सुरक्षित है। इसी लक्ष्य को ध्यान में रखते हुआ हम यह पोस्ट लिख रहे जिससे आप सुरक्षित बिजली की जरूरते को आसानी से समझ सकें।

ऐसी चीजें जो आपको इलेक्ट्रिक सेफ्टी के बारे में पता होनी चाहिए

विद्युत सुरक्षा के पीछे मुख्य उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि इलेक्ट्रिक करंट अपने लक्षित पथ से किसी और पथ पर रिसाव न करे जैसे आप पानी के पाइप से जल रिसाव बहुत बार देखते है । अंतर केवल इतना ही की यह जल रिसाव तुरंत कोई दुर्घटना को जन्म नहीं देगा और दूसरी और इलेक्ट्रिक करंट का रिसाव दुर्घटना को जन्म दे सकता है। इलेक्ट्रिक करंट को देखा नहीं जा सकता और इंस्ट्रूमेंट के इस्तेमाल से ही इसे पता लगाया जा सकता है।
ऐसे दो तरीके हैं जिनसे करंट लीक हो सकता है: डायरेक्ट (प्रत्यक्ष)  या इनडायरेक्ट (अप्रत्यक्ष) कांटेक्ट के द्वारा। आइए समझे कि ये दोनों क्या है और कैसे इसे रोका जा सकता है।

डायरेक्ट (प्रत्यक्ष) कांटेक्ट

लाइव वायर के साथ कोई भी संपर्क खतरनाक हो सकता है। लाइव पार्ट्स को उचित इन्सुलेशन प्रदान करना आवश्यक है और यह सुनिश्चित करना है कि ये किसी एनक्लोसूरे में है और खुले तरीके से लटके तो नहीं है। इस बात की बहुत आवश्यकता है किसी भी परिस्थिति मे गलती से कोई भी नंगे तार के संपर्क में न आये । अपने घर को बनाते हुए या बिजली का कोई नया काम करने के समय इन बातो को ध्यान रखना आवश्यक है:

केबल्स और तार

केबल्स की खरीद करते समय, आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि आप एक तांबे के कंडक्टर से बना ही तार ख़रीदे और उस पर इन्सुलेशन IS 8130 specification के अनुसार बना होना चाहिए । एल्यूमीनियम से बने तारों से बचें। दो प्रकार के तार उपलब्ध हैं: सिंगल-कोर और मल्टी-कोर, जैसा कि नीचे दी गई छवि में दिखाया गया है।

Single Core And Multi Core Wires

आमतौर पर, सिंगल-कोर स्ट्रेन्डेड तारों को घर की वायरिंग के लिए उपयोग किया जाता है। मल्टी-कोर तारों का उपयोग प्लग के साथ एक उपकरण के कनेक्शन के लिए किया जाता है। जैसा कि ऊपर की छवि में दिखाया गया है, सिंगल-कोर स्ट्रेन्डेड वायर में उपलब्ध कोई सुरक्षा शीथिंग (या ऊपर की छवि में काला कवर) नहीं है जोकि मल्टी-कोर तारों मे दिया जाता है जिससे सभी तारो को एक साथ रखा जा सके । लेकिन हर स्थिति में तांबा कंडक्टर पर पीवीसी इन्सुलेशन के साथ कवर किया गया है जिससे करंट का रिसाव न हो । कॉपर के तार पर लगाया गया पीवीसी इन्सुलेशन भारतीय मानक IS 694 के अनुसार होना चाहिए । पीवीसी इन्सुलेशन दो श्रेणी के होते है जैसे यदि यह अग्निरोधी है तो C1 और यदि अगर अग्निरोधी के साथ साथ कम धुआं है तो श्रेणी C2 का है। केबल खरीदते समय इन श्रेणियों की जाँच करें।

तार के अंदर तांबा कंडक्टर को मल्टी स्ट्रैंडिंग आईएस 8130 – 1984 के खंड 5 के अनुसार होना चाहिए (जैसा कि छवि में दिखाया गया है)। मल्टी स्ट्रैंडिंग लचीलापन प्रदान करने के लिए किया जाता है। एक स्ट्रैंड का इंसुलेटेड केबल पैनल आदि की वायरिंग के लिए इस्तमाल किया जाता हैं जहाँ पर केबल को पूर्व से निर्धारित पथ पर स्थाई आवश्यकता के अनुसार लगाया जाता है ।

Single and Multi Stranded Wires

तार के size sq.mm. के संदर्भ में परिभाषित किए गए हैं। क्रॉस-सेक्शन और साइजिंग कितनी करंट ले जाने की आवश्यकता है पर निर्धारित किया जाता है जिससे तार इस्तेमाल के समय गर्म न हो और insulation को ख़राब न करे । घर के वायरिंग के लिए तार का आकार आमतौर पर 1 से 6 sq.mm. तक होता है, जिसमें करंट की क्षमता IS 3961 (भाग V) -1968 के अनुसार निर्धारित होती है:

Size (in sq.mm.)Current carrying capacity in Amp.DC Resistance in ohms/km at 20 degreeOuter diameter including insulation in mm
11219.502.44
1.51613.502.66
2.5227.983.27
4294.953.99
6373.34.52

एक सामान्य सिद्धांत के अनुसार सभी लाइट / पंखे सर्किट 1.5 sq.mm के साथ वायर्ड होते हैं। और 6/16 A के पावर प्लग 4 sq.mm. केबल के साथ । जब एक केबल या तार वायर किया जाता है, तो सुनिश्चित करें कि आपका इलेक्ट्रीशियन एक रंग कोड का अनुसरण करे जैसे की लाल, नीला, पीला फेज के लिए , ब्लैक न्यूट्रल और ग्रीन अर्थिंग के लिए । इस कोड के अनुसार वायरिंग करने से जब कभी मॉडिफिकेटों करने की जरूरत मे न्यूट्रल और अर्थ वायरिंग मे कोई गलती न हो।

कुछ ब्रांडों का अपनी केबल / तार के बारे मे यह कहना है की ‘यह तार बिजली बचाते हैं‘। एक केबल में बिजली का नुकसान तार के प्रतिरोध पर निर्भर करता है और एक तार का प्रतिरोध तार के क्रॉस सेक्शन पर निर्भर करता है। तो आदर्श रूप से, बिजली का लोस्स एक ही क्रॉस-सेक्शन वाले सभी तांबे के तारों के लिए समान होना चाहिए और जिसके अनुसार IS मे भी लिखा गया है । इसलिए हम ‘bijli bachao’ इस प्रकार के क्लेम का समर्थन नहीं करते हैं और यह कहना चाहैंगे की ऐसे विज्ञापन से आप अपने खरीद निर्णय को प्रभावित न करें ।

यहाँ कुछ अच्छे तार (1.5 वर्ग मिमी) जो अमेज़न पर उपलब्ध हैं इस प्रकार से है:

स्विच और सॉकेट

स्विच या सॉकेट किसी भी वायरिंग सिस्टम में एक और महत्वपूर्ण लेकिन कमजोर कड़ी है । नियमित रूप से स्विच को ‘ऑन’ और ‘ऑफ’ किए जाने के कारण  विफल होने की सम्भावना अधिक होती है , विशेष रूप से कांटेक्ट एरिया कमजोर हो जाने पर वहां हीटिंग होकर इन्सुलेशन फ़ैल हो सकता है और करंट लीक कर सकती है । भारत में सॉकेट और स्विच भारतीय मानक IS 3854: 1997 के अनुसार निर्मित होते हैं, इसलिए जब आप एक खरीदते हैं, तो सुनिश्चित करें कि यह मानक बॉक्स पर उल्लिखित है।

स्विच और सॉकेट के बहुत अधिक निर्माता भारतवर्ष मे हैं और सभी पर आईएस मार्क प्रिंटिंग का निशान मिलेगा इसलिए इस अकेले मापदंड पर पूरी तरह से भरोसा नहीं किया जा सकता है। यह सुनिश्चित करने के लिए कि निर्माता ने मानकों का पालन करना है एक परीक्षण आप स्वं कर सकते हैं। इसे प्रज्वलित करने की कोशिश करें और देखें कि यह बहुत कम लौ के साथ ही जलना चाहिए और बहुत तेजी से नहीं फैलना चाहिए । दूसरी जो खुद आप परख कर सकते है वह उसकी कारीगरी है जिसे हासिल करने के लिए बड़े निवेश की आवश्यकता होती है और कारीगरी किसी एक ब्रांडेड प्रोडक्ट के साथ मिलकर आप देख सकते है । हमारी राय है की इन प्रोड्कट को आप लोकप्रिय और ब्रांडेड मेक के ही ख़रीदे।

आपने यह देखा होगा कि एअर्थ (earth) पिन मोटा और लंबा होता है और यह सुनिश्चित करनइ के लिए है कि उपकरण को छुए हुए व्यक्ति को तुरंत बिजली का झटका न लगे यदि उसमे कोई खराबी है। इसी प्रकार यह एअर्थ पिन शटर पहले खुलता है और उसके बाद अन्य शटर खुलते हैं। एअर्थ पिन शटर को धक्का दिए बिना, दूसरे पिन हूटर नहीं खुलेंगे।आप प्लग और सॉकेट की सेफ्टी के लिए कुछ टिप्स इस लिंक पर पढ़ सकते हैं: इलेक्ट्रिकल सुरक्षा के लिए 3-पिन प्लग का उपयोग क्यों करें?

सॉकेट्स का चयन करते समय, सुनिश्चित करें कि इसे आप शटर के साथ लें ताकि बच्चे गलती से अपनी उंगलियों को इसके अंदर न डालें। यह फर्श के सॉकेट नजदीक लगाए सॉकेट के लिए अति आवश्यक है।

यहाँ अमेज़न पर कुछ अच्छे सॉकेट हैं:

स्विच और सॉकेट पैनल के हाउस करने का बॉक्स

भारतीय मानकों में धारा 5133 है जो घर के स्विच और सॉकेट पैनल बॉक्स के लिए मानक निर्देश प्रदान करने के लिए है। कृपया सुनिश्चित करें कि आप एक स्टील या जीआई इलेक्ट्रिकल बॉक्स ही ख़रीदे । इस मामले में यदि कोई आपको किसी अलग प्रकार के बॉक्स का उपयोग करने की सलाह देता है तो ध्यान रखें की विद्युत सुरक्षा के लिए स्टील / जीआई बॉक्स का उपयोग ही करें क्योंकि यदि पैनल में कोई फाल्ट होता है तो अर्थिंग हो जाएगी और एमसीबी के ट्रिपिंग हो जायेगी।

Conduit

मैकेनिकल सुरक्षा के लिए तारों को खुले में नहीं लगाना चाहिए । खुले में तार बिछाने के लिए रिजिड पाइप या फ्लेक्सिबल / गैर-फ्लेक्सिबल धातु पाइप का उपयोग करें। कन्सॉलिड वायरिंग के लिए किसी मैकेनिकल क्षति की संभावना नहीं होती और साथ में अगर कोई धुआं निकले तो ऑक्सीजन के न होने के कारण आग खुद ही भुज जाएगी । इसके साथ कन्सॉलिड वायरिंग देखने में सूंदर लगती है। आपको ऐसा करने के लिए एक conduit की आवश्यकता होगी। हमेशा एक conduit के लिए भारतीय मानकों के अनुसार ही खरीद करें हो इस प्रकार से है

Non-Metallic: Rigid: IS 2509-1974 and 3419-1989; Flexible: IS 9537 (Part 5) 2000

केबल जॉइंट

भारत में इलेक्ट्रीशियन के साथ एक आम प्रथा है कि जिसमे केबल्स के स्ट्रैंड के एक दुसरे के ऊपर चढ़ाकर घुमाकर इनसुअलटेड टेप चढ़ा देते हैं।यह तरीका लम्बे समय की आवश्यकता के लिए एक जोखिम और खतरों से ग्रस्त प्रक्रिया है। इन दिनों आपको बाजार में केबल कनेक्टर मिल सकते हैं जिनका उपयोग सुरक्षित रूप से केबल के जुड़ने के लिए किया जा सकता है। सुरक्षित बनाने के लिए अतिरिक्त इन्सुलेशन प्रदान करने के लिए आप सोल्डर के साथ हीट-shrinkable स्लीव या केवल हीट-shrinkable स्लीव का भी उपयोग कर सकते हैं। अमेज़न पर उन उत्पादों में से कुछ नीचे सूचीबद्ध हैं:

इन सभी उत्पादों का उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि समय के साथ एडहेसिव टेप कमजोर होने से उतर सकता है और जॉइंट नग्न हो जाएगा और कोई भी बिजली के सीधे संपर्क में आ सकता है।

इनडायरेक्ट (अप्रत्यक्ष) कांटेक्ट

सभी उपाय करने के बाद भी, कोई व्यक्ति गलती से एक जीवित तार या सिस्टम में कहीं करंट के रिसाव के माध्यम से बिजली के संपर्क में आ सकता है । इन कारणों से बचाने के लिए, किसी भी विद्युत इंस्टालेशन में सुरक्षा प्रणाली की कुछ आवश्यकताएं निम्नलिखित हैं।

फ्यूज

एक फ्यूज शॉर्ट और ओवरलोड करंट से सुरक्षा प्रदान करने के लिए होता है। यदि आप सही रेटिंग (जुड़े उपकरण और उनके वर्तमान उपयोग के आधार पर) इस्तेमाल करते हैं तो यह सुरक्षा का सबसे अच्छा और विश्वसनीय तरीका है। हालांकि, एक फ्यूज जब उड़ जाता है तो दुबारा लगने मे असुविधा होती है इसलिए प्राथमिक सुरक्षा के लिए डिस्ट्रीब्यूशन बोर्ड पर मकब का इस्तेमाल करना चाहिए ।

ऊर्जा मीटर के बाद, सेकेंडरी प्रोटेकिटों के लिए,  फ्यूज का उपयोग करना हमेशा अच्छा होता है (खुदरा बाजार में लगभग कोई भी उपलब्ध नहीं है क्योंकि नई स्थापना में उपयोग नहीं किया जाता है) या एमसीबी के बजाय सही रेटिंग का कारतूस फ्यूज क्योंकि संरक्षण की विश्वसनीयता सबसे अच्छा फ्यूज द्वारा हासिल की जाती है । यहाँ अमेज़न पर उपलब्ध कारतूस फ्यूज का एक उदाहरण है:

MCB या मिनिएचर सर्किट ब्रेकर

MCB या मिनिएचर सर्किट ब्रेकर शॉर्ट और ओवरलोड करंट से प्रोटेक्ट करने का एक बहुत अच्छा साधन है। MCBs इन दिनों बहुत लोकप्रिय हैं, और इसके बिना एक घर की कल्पना करना मुश्किल है। MCBs का निर्माण IS 13032: 1991 के अनुसार किया जाता है। वितरण और उप-वितरण बोर्ड में MCB प्रदान किए जाते हैं। लोड बनाम रेटिंग के लिए एमसीबी के मानक आकार 1-4A/6A, 6A/10A, 16A/20A, 20A/25A, 25A/32A, 32A/40A (यानि 6A के लिए 10A का MCB इस्तेमाल करें) आदि हैं। आपको अपनी आवश्यकताओं के अनुसार सही आकार खोजने में मदद करने के लिए हाउस वायरिंग विशेषज्ञ की सहायता लेनी चाहिए। वे दो प्रकारों में उपलब्ध हैं: टाइप बी और टाइप सी। यदि आपके पास एक मोटर है और आप इसके लिए एमसीबी का उपयोग करना चाहते हैं, तो आपको टाइप सी का उपयोग करना चाहिए। अन्य सभी प्रतिरोधक (resistive) load (जैसे रोशनी, पंखे, टीवी इत्यादि) के लिए आपको टाइप बी का उपयोग करना चाहिए। यहाँ अमेज़न पर कुछ 10 A एमसीबी उपलब्ध हैं:

ABB is a pack of four and Schneider is a pack of two.

RCCB या रेसिडुअल करंट सर्किट ब्रेकर/RCBO

RCCB या रेसिडुअल करंट सर्किट ब्रेकर करंट रिसाव होने के कारण होने वाले बिजली के झटके से आपके घर के लिए सबसे अच्छा संरक्षण है। MCB शॉर्ट सर्किट या ओवरलोड का पता लगता है तो RCCB करंट के रिसाव का पता लगाता है। इसलिए किसी भी घर या संस्थान में आरसीसीबी होना आवश्यक है। जब भी यह एक निश्चित सीमा से अधिक करंट रिसाव का पता लगाता है तो आरसीसीबी बिजली की आपूर्ति क़ो काट देता है। आरसीसीबी निर्माता घरेलू आवश्यकता के लिए 30 एमए संवेदनशीलता की सिफारिश करते हैं।

इस तरह की संवेदनशीलता तब परेशानी का सबब बन जाती है जब रात्रि के समय बिना किसी स्पष्ट के कारण RCCB ट्रिप कर जाता है। इससे बचने के लिए अधिकांश उपयोगकर्ता के इलेक्ट्रीशियन आरसीसीबी को दरकिनार कर देते हैं। RCCB के ट्रिप होने के कारण क़ो पता लगाना बहुत मेहनत का काम है और दक्ष इलेक्ट्रीशियन ही इसे कर पते हैं। यदि आप ट्रिपिंग के कारणों क़ो पहचान करने मे कठिनता महसूस करते हैं तो बाईपास करने या बिल्कुल ही नहीं लगाने के बजाय 60 mA के लिए जाना बेहतर होता है। इस वजह से, हम आमतौर पर आरसीसीबी के लिए 60 mA संवेदनशीलता तक का सुझाव देते हैं।

अब नवीनतम विकास आरसीबीओ है जो आरसीसीबी और एमसीबी का एक संयोजन है जो शॉर्ट सर्किट के साथ-साथ करंट रिसाव दोने के लिए सुरक्षा प्रदान करता है।
63 Amp रेटिंग और 100 mA संवेदनशीलता के साथ अमेज़न पर कुछ RCCB इस प्रकार से हैं:

आप इस लिंक पर RCCB के बारे में अधिक पढ़ सकते हैं: Why is RCCB necessary for your house?

अर्थिंग (Earthing)

अर्थिंग (यूएस में ग्राउंडिंग के रूप में भी जाना जाता है) किसी भी घर या संस्थान की विद्यतीकरण की एक अनिवार्य जरूरत है। आम आदमी के शब्दों में, अर्थिंग करंट लीक करने पर पृथ्वी के माध्यम से उसके सप्लाई सोर्स पर वापिस पहुँच जाती है । सभी उपकरणों में उचित अर्थिंग होनी चाहिए। यह उपकरण के धातु वाले हिस्से में एक तार को जोड़कर किया जाता है और यह तार तीन-पिन प्लग के शीर्ष (मोटे) पिन से जोड़ा जाता है । बिजली की वायरिंग करते समय इस बात का ध्यान देना चाहिए कि पूरे घर में एअर्थ तार हर जगह उपलब्ध होना चाहिए ।
यहाँ कुछ और लेख हैं जिन्हें आप अर्थिंग, इलेक्ट्रिकल प्रोटेक्शन और फायर सेफ्टी पर पढ़ सकते हैं:

‘EARTHING’, a must for every one to understand its importance for Electrical Safety

Electrical Protection, Fire and Safety

About the Author:
Mr Mahesh Kumar Jain is an Alumnus of the University of Roorkee (IIT Roorkee) with a degree in Electrical Engineering who has spent 36 years serving the Indian Railways. He retired from Indian Railways as a Director of IREEN (Indian Railways Institute of Electrical Engineering) and has also served as Principal Chief Electrical Engineer at many Railways. He has performed the responsibility of working as Electrical Inspector to Govt. of India. Mr Mahesh Kumar Jain is having passion for electrical safety, fire, reliability, electrical energy consumption/conservation, electrical appliances and has always been an inspirational force behind this website in assisting in these areas.  He currently serves as a consultant at Nippon Koi Consortium. .

Please use the commenting form below to ask any questions or to make a comment. Please do not put the same comment multiple times. Your comment will appear after some time. Also please note that we do not reply to emails or comments on social media. So if you have any question, please put it in the form below and we will try to reply to it as soon as possible. If you are asking for an appliance recommendation, please be as specific with your requirements as possible because vague questions like asking for "cheap and best" would get vague replies. We usually reply within a day.

Please do not put comments for backlinks as they will not be approved. The comments are moderated and will be marked as spam if you put them for backlinks.


अगर आप के कुछ भी सवाल हैं, वह आप नीचे दिए हुए सवाल-जवाब सेक्शन में पूछ सकते हैं। आप अपने सवाल हिंदी में भी पूछ सकते हैं और हम आपको हिंदी में ही जवाब देंगे। कृपया एक ही सवाल को बार बार ना डालें। आप एक बार जब "submit " बटन दबाएंगे, उसके बाद आपका सवाल यहाँ दिखने में थोड़ा टाइम लगेगा। कृपया धैर्य रखें। अगर हमारे पास आपके सवाल का जवाब है तो हम उसे जल्दी से जल्दी जवाब देने की कोशिश करेंगे। कृपया अपने सवाल ई मेल या सोशल मीडिया पर ना डालें। हम ज़्यादातर एक दिन में जवाब दे देते हैं।



Support Bijli Bachao
Although we do not charge for answering your questions, but it does take time and effort to go through all of them and reply. If you find the responses useful and would like to pay for our efforts, you can click on the image above or can send us payment via UPI at bijlibachao@upi
Top