Electricity Saving Tips For Homes And Offices

बीईई स्टार रेटिंग, भारतीय मानको को भी अपने में सम्मिलित करती हैं

By on September 24, 2015
English Translation: BEE star rating includes Indian Standards

जब भी हम बीईई स्टार रेटिंग के बारे में बात करते हैं, तो एक आम गलतफहमी जो शायद हम सभी को होती हैं, वह यह हैं की बीईई मानक शायद भारतीय मानकों को अपने में सम्मिलित नहीं करते है| कई लोगों को ऐसा लगता हैं की बीईई ने अपने स्वयं के मानकों की स्थापना की है, और यह भारतीय मानक (या आईएस) से अलग हैं| लेकिन सौभाग्य से यह सच नहीं है। अधिकांश उपकरण जिसके लिए बीआईएस (भारतीय मानक ब्यूरो) द्वारा निर्धारित मानक सेट हैं, बीईई न केवल इन मानकों को समग्रता से मानती हैं, बल्कि अतिरिक्त विनिर्देशों को अपनाकर या परिभाषित कर बीईई  अपने लिए नए मानकों को स्थापित भी करती हैं| यहाँ तक की, बीईई स्टार रेटिंग को परिभाषित करते हुए भारतीय मानक ब्यूरो के मानको के साथ-साथ, बहुत सारे अंतरराष्ट्रीय सर्वोत्तम प्रथाओं को भी अपनाती हैं| इस तरह वह भारत में स्टार रेटिंग की प्रक्रिया को परिभाषित करती हैं|

बीआईएस और आईएस क्या होते है?

भारत सरकार द्वारा बीआईएस या भारतीय मानक ब्यूरो को संन 1986 में  स्थापित  किया गया था| इसको स्थापित करने का उद्देश्य मानकीकरण, अंकन (मार्किंग) और गुणवत्ता प्रमाणन जैसी गतिविधियों के बीच सामंजस्य को स्थापित करना था| बीआईएस के पास कई प्रकार के सामान या उत्पाद के लिए गुणवत्ता मानक थे – जैसे खाद्य, सीमेंट, इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, इत्यादि| बीआईएस द्वारा प्रमाणित विभिन्न उत्पाद “आईएसआई” चिह्न के साथ चिह्नित होते हैं और बीआईएस द्वारा परिभाषित सभी मानक आईएस के बाद एक ‘यूनिक’ संख्या से कोडित भी होते हैं,  जैसे उदाहरण के लिए आईएस 3854 घरेलू और इसी तरह के उद्देश्यों के लिए बिजली स्विच के लिए यूनिक संख्या कोड|

विभिन्न बिजली और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के लिए बीआईएस के मानक यह सुनिश्चित करते हैं की चिन्हित उत्पाद सुरक्षा और प्रदर्शन मानकों का सही प्रकार पालन करें। तो बीईई स्टार रेटिंग जो आईएस से श्रेष्ठतर होती हैं, निश्चित रूप से यह सुनिश्चित करती हैं इनके द्वारा निर्धारित मानको से चिन्हित उत्पाद सुरक्षा, प्रदर्शन के साथ ही दक्षता मानकों का भी पूर्णता से पालन करें।

बीईई स्टार रेटिंग में अंतरराष्ट्रीय सर्वोत्तम प्रथाएं

बीईई स्टार रेटिंग भी दक्षता मानकों के लिए अंतरराष्ट्रीय सर्वोत्तम प्रथाओं को अपनाती हैं| उदाहरण के लिए  ईईआर मानक को हर जगह, एयर कंडीशनर के लिए एक सार्वभौमिक स्वीकार  विधि मानी जाती हैं| एयर कंडीशनर पर बीईई स्टार रेटिंग काफी हद तक  ईईआर मानक के आधार पर ही होती हैं| कंप्यूटर और लैपटॉप के लिए स्टार रेटिंग पर भी ऊर्जा सितारा मानक समान ही होते है। उपकरणों के लिए मानकों की स्थापना करते हुए, बीईई यह सुनिश्चित करती हैं, की वे भारतीय स्थिति के अनुरूप अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त एवं सबसे अच्छे मानकों को ही शामिल कर रहीं हैं|

विभिन्न उपकरणों के लिए बीईई द्वारा अपनाये गए आईएस मानक

नीचे विभिन्न उपकरणों के लिए बीईई द्वारा अपनाये गए कुछ आईएस मानकों की सूची प्रस्तुत हैं|

  1. ट्यूबलाइट: आईएस 2418 (भाग प्रथम और द्वितीय) – 1977 से सामान्य प्रकाश के सभी संशोधनों के साथ।
  2. फ्रॉस्ट फ्री रेफ्रिजरेटर: आईएस 15750:2006
  3. एयर कंडीशनर: आईएस 1391 भाग 1 और भाग 2
  4. इलेक्ट्रिक गीजर: आईएस 2082:1993 और खंड 15 के आईएस 302-2-21 के सभी संशोधनों के साथ
  5. छत पंखे: सभी संशोधनों के साथ आईएस 374:1979
  6. रंगीन टीवी: सीआरटी के लिए आईएस 13384:1992 (भाग 1 और भाग 2) और आईएस 13900:1993

 

सन्दर्भ:

www.beeindia.in

Recommended Content

Top